भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Vanijya Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

Agreement to sell

बिक्री-क़रार
माल बिक्री अधिनियम में ‘बिक्री’ तथा ‘बिक्री-करार’ में अंतर किया गया है। बिक्री में माल की सुपुर्दगी (वास्तविक अथवा प्रलक्षित) शामिल होती है जबकि ‘बिक्री-करार’ में सुपुर्दगी भविष्य में किन्हीं शर्तों के पूरा होने पर किए जाने को व्यवस्था होती हैं।

All commodity rates

समस्त पण्य दर, समस्त जिन्स दर
ऐसी दर जो सभी प्रकार की वस्तुओं की ढुलाई पर लागू हो। सामान्यतः यह दर यान-भार माल के लिए ही होती है।

Allied products

सहबद्ध उत्पाद
किसी प्रमुख वस्तु के साथ-साथ उत्पादित अन्य संबंधित वस्तुएँ। उदाहरण के लिए, आटा मिल ‘सहबद्ध उत्पाद’ के रूप में मैदा और सूजी भी तैयार करते हैं।

Allocation

बँटवारा, विनिधान
प्रभाजन क्रिया; किन्ही विशेष उद्धेश्यों अथवा संगठनों के लिए राशि का प्रभाजन जैसे :-
लेखाविधि में : किसी स्वैच्छिक नियम के अनुसार लागत और ख़र्च को विभिन्न लेखाओं के बीच प्रभाजित करना।
सरकारी अथवा अन्य संस्थानों में : आर्थिक नियंत्रण-उपाय के रूप में धनराशि का प्रभाजन।
कंपनी लेखाओं के संदर्भ में : लाभ का विभिन्न मदों के बीच ‘बँटवारा’।
दे . appropriation भी

All or any part

पूर्णोवा अंशोवा
प्रतिभूतियों की हामीदारी-संविदा में प्रयुक्त होने वाला एक वाक्यांश जिसके अनुसार हामीदार किसी कंपनी द्वारा निर्गमित प्रतिभूतियों के सारे अथवा एक अंश को बेचने अथवा स्वयं ले लेने के लिए सहमत हो जाता हैं।
तुल. दे. all or none

All or none

पूर्णोवा शून्योवा
प्रतिभूतियों की हामीदारी-संविदा में प्रयुक्त होने वाला एक वाक्यांश जिसके अनुसार हमीदार इस आधार पर अपने भाव देता है कि उसे सारी की सारी प्रतिभूतियाँ नियत कर दी जाएँगी।
तुल. दे. all or any part

All risk insurance

सर्वजोखिम बीमा
स्पष्टतः उल्लिखित अपवादों को छोड़कर शेष सभी जोखिमों से उत्पन्न हानि के प्रति संरक्षण प्रदान करने वाली बीमा पॉलिसी।

Alternative drawee

विकल्पी अदाकर्ता
दे. drawee in case of need

Amalgamation

समामेलन
दो या अधिक कंपनियों के परस्पर विलय की प्रक्रिया जिसके परिणामस्वरूप प्रायः एक नई कंपनी का जन्म होता है।

Amortization

परिशोधन
अ – किसी ऋण की क्रमिक चुकौती। यह सीधी लेनदारों को हो सकती है या एक निक्षेप-निधि में नियमित रूप से राशि डालते रहकर भी की जा सकती है।
आ – बढ़ौती पर ख़रीदे गये बंधपत्रों का निवल प्रतिफल (net yield) ज्ञात करने की विधि। इसमें बंधपत्र के चालू प्रतिफल (current yield) में से उसकी क्रय और परिपक्वता की तारीख़ों के बीच की अवधि के दौरान बढ़ौती की राशि के समान अंशों को कम करते चले जाते हैं।
इ – पेटेन्ट, रॉयल्टी आदि अमूर्त परिसंपत्तियों के अभिग्रहण की लागत का उसके जीवन-काल के बीच विनिधान।

Amount

राशि, रकम; परिमाण, मात्रा; मिश्रधन
राशि, रकम : समक्ष अथवा विचारगत धन।
परिमाण, मात्रा : कुल संख्या, भार, आदि।
मिश्रधन : मूलधन और ब्याज का योग।

Ancillary industry

आनुषंगिक उद्योग
किसी प्रमुख उद्योग द्वारा उत्पादित माल अथवा मशीनों के विभिन्न कल-पुर्जों की अथवा अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति करने वाले छोटे-छोटे उद्योग।

Ancillary products

आनुषंगिक उत्पाद
वे वस्तुएँ जो किसी मूल वस्तु के निर्माण के लिए आवश्यक हों।
दे. ancillary industry

Annual stock-taking

वार्षिक माल-पड़ताल
प्रतिष्ठान का वार्षिक व्यापार-लेखा और तुलनपत्र तैयार करने के सिलसिले में उसके पास मौजूद कुल माल (कच्चा, अर्धनिर्मित और निर्मित) का मूल्य ज्ञात करने की क्रिया।

Annuity

वार्षिकी
एक निश्चित अथवा अनिश्चित अवधि तक प्रतिवर्ष अथवा अन्य समान अंतरालों (जैसे तिमाही, छमाही) पर देय कोई धनराशि।
annuity के प्रमुख प्रकारों के लिए दे. annuity due, acontingent annuity, deferred annuity, immediate annuity, joint and survivor annuity, perpetual annuity.

Annuity deposit scheme

वार्षिकी जमा योजना
बैंक, डाकघर या किसी अन्य निवेश संस्था में एक निश्चित संस्था में एक निश्चित अवधि के अंतर से (प्रायः वार्षिकी या तिमाही) रुपया जमा करने की योजना। इस प्रकार जमा रक़म ब्याज समेत एक पूर्व निश्चित विधि से जमाकर्ता को लौटाई जाती है।

Annuity due

देय वार्षिकी
ऐसी वार्षिकी जिसका प्रथम भुगतान प्रत्येक अवधि की समाप्ति के बजाय उसके प्रारंभ में किया जाता है।

Anticipation

1. समय-पूर्व भुगतान 2. पूर्व प्रावधान
1. समय-पूर्व भुगतान : माल अथवा सेवाओं के बिल की निर्धारित समय से पहले अदायगी। ऐसा करने पर विक्रेता प्रायः कुछ छूट देता है भले ही बिक्री की शर्तों में इस प्रकार की नक़द छूट का कोई उल्लेख न हो।
2. पूर्व प्रावधान : देय अथवा प्राप्य होने के पूर्व ही धन का उपयोग अथवा व्यय जैसे, न्यास संपदा से प्राप्त होने वाली आय को प्राप्ति से पूर्व ही ग्रहण करना अथवा समनुदेशन आदि के द्वारा उसका स्वत्व अंतरित करना।

Anti-inflationary measures

प्रतिस्फीति उपाय, स्फीति-निवारक उपाय
स्फीति रोकने के लिए उठाए जाने वाले विभिन्न उपाय जिनमें बैंक-दर में वृद्धि, विभिन्न प्रकार के करों अथवा शुल्कों में वृद्धि, वचत की योजनाएँ, उत्पादन में वृद्धि आदि शामिल हैं।

Apex bank

शिखर बैंक
किसी बैंकिंग प्रणाली का सर्वोच्च सदस्य बैंक।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App