भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Vanijya Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

Application money

आवेदन-राशि
कंपनी की प्रतिभूतियों के निर्गमन के सिलसिले में निवेशकर्ता से आवेदन-पत्र के साथ माँगी गई रक़म।

Apportionment

प्रभाजन
ख़र्च की किसी मद अथवा लागत-राशि को कई अवधियों के बीच फैलाना।

Appraisement

कूतना, आँकना, निरूपण
माल, संपत्ति अथवा अन्य संसाधनों का मूल्यांकन।

Appreciation

वृद्धि, मूल्यवृद्धि
किसी परिसंपत्ति के मूल्य में हुई बढ़ोतरी।

Appropriation

विनियोजन
सरकार द्वारा सार्वजनिक धन के व्यय अथवा किन्हीं निर्दिष्ट देयताओं के निपटान के लिए व्यवस्थापिका अथवा विधान मंडल द्वारा दी गई स्वीकृति;
वह धनराशि जिसे भविष्य में व्यय करने की स्वीकृति दे दी गई हो;
निवल आय का विभिन्न लेखाओं के बीच वितरण;
अर्जित अधिशेष का विभिन्न मदों के बीच बँटवारा।
दे. allocation भी

Appropriation account

विनियोजन लेखा
प्रतिष्ठान का निवल लाभ ज्ञात कर लेने के बाद विभिन्न मदों और निधियों के बीच उसका प्रभाजन दिखाने के लिए बनाया गया लेखा।

Arbitrage

अंतरपणन
दो वायदा बाज़ारों में विद्यमान क़ीमतों के अंतर से लाभ प्राप्त करने के लिए कम क़ीमत वाले बाज़ार में वस्तु अथवा विदेशी मुद्रा ख़रीदना और साथ-ही-साथ अधिक क़ीमत वाले बाज़ार में उसी वस्तु अथवा विदेशी मुद्रा को बेच देना।

Arbitrated exchange rate

अंतरपण्य विनिमय-दर
अधिक अनुकूल विनिमय-दर का लाभ उठाने के उद्देश्य से एक देश में विनिमय-पत्र ख़रीद कर उसे सीधे अभिप्रेत देश में भेजने के बजाय किसी तीसरे देश में बेचना और वहाँ से नया विनिमय-पत्र लेकर अभिप्रेत देश को भेजना विनिमय अंतरपणन कहलाता है। इस अंतरपणन में जो विनिमय-दर स्थापित होती है वह ‘अंतरपण्य विनिमय-दर’ है।

Arrangement

1. व्यवस्था 2. पुनर्विन्यास
1. व्यवस्था : सामान्य अर्थों में, किसी मुक़दमे के दोनों पक्षों के बीच होने वाले राज़ीनामे को दिया गया कार्यरूप; दिवाला क़ानून के अंतर्गत देनदार द्वारा अपने लेनदारों के समक्ष क़र्ज के निपटान अथवा भुगतान की अवधि को बढ़ाने के लिए प्रस्तुत की गई योजना। ऐसा करके देनदार औपचारिक रूप से दिवालिया घोषित होने की प्रक्रिया से बच सकता है।
2. पुनर्विन्यास : विभिन्न श्रेणियों के शेयरों को समेकित कर अथवा शेयरों को विभिन्न श्रेणियों में बाँटकर अथवा दोनों ही विधियों को अपनाकर कंपनी की शेयर पूंजी का पुनर्गठन करना।

Arrivals

आमद
बाज़ार खुलने पर सौदों की शुरूआत अधिकतर पिछले दिन के बचे हुए माल से होती है। इसके अलावा और जो माल दिन के दौरान बाज़ार में बिकने के लिए आता है, उसे ‘आमद’ कहा जाता है।

Articles of association

संस्था के अंतर्नियम
वे विनिमय या उप-नियम जिनके अधीन कंपनी का आंतरिक संगठन और व्यवहार संचालित होता है और जो कंपनी की बहिर्नियमावली से नियंत्रित होते हैं।
तुल. दे. memorandum of association

As is where is

जैसा है जहाँ है
किसी माल का जैसी हालत में वह है और जहाँ है, बेचा जाना। तात्पर्य यह है कि माल में जो भी दोष अथवा टूट-फूट है, विकेता उसकी दुरुस्ती नहीं कराएगा। साथ ही, क्रेता को माल उस स्थान से अपने ख़र्चे पर उठाकर ले जाना होगा।

As per advice

1. आदेशानुसार 2. सूचनानुसार
1. आदेशानुसार : सामान्य व्यापारिक प्रयोग में इससे आशय है, किसी पक्ष के निर्देश के अनुसार किया गया कार्य।
2. सूचनानुसार : विनिमय-पत्र या हुंडी में प्रयुक्त होने वाली अभिव्यक्ति जिसका अर्थ है कि अदाकर्ता को यह सूचना दे दी गई है कि उस पर हुंडी की जा रही है। किंतु इसका अर्थ यह नहीं है कि अदाकर्ता ने हुंडी का भुगतान करने की गारन्टी दे दी है।

Assay

आमापन, परख
रासायनिक परीक्षण अथवा अन्य उपायों द्वारा सोना, चाँदी आदि बहुमूल्य धातुओं की शुद्धता ज्ञात करना।

Assembly line production

समनुक्रम-उत्पादन
उत्पादन की ऐसी व्यवस्था जिसमें निर्माणाधीन वस्तु कन्वेयर बैल्ट के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँच जाती है और कारीगर विभिन्न चरणों में उस पर काम करते जाते हैं। अंत में, वह पूरी तरह तैयार होकर फ़ैक्टरी से बाहर निकलती है। इस प्रकार, प्रारंभ से लेकर पूर्ण निर्माण की अवस्था तक वस्तु पर श्रृंखलाबद्ध रूप से काम होता रहता है।

Assessee

निर्धारिती, कर-निर्धारिती
वह व्यक्ति जिसकी आय, संपत्ति आदि का किसी कर विशेष के लिए निर्धारण किया गया है;
वह व्यक्ति जिसके विरुद्ध किसी कर-विधान के अंतर्गत कराधान संबंधी कोई कार्रवाई की जा रही है।

Assessment

निर्धारण, कर-निर्धारण
अ – कराधान के उद्देश्य से सरकार अथवा स्वायत्त शासन द्वारा आय अथवा संपत्ति का मूल्य कूतना।
आ – सरकार द्वारा नागरिकों पर अथवा कंपनी द्वारा अपने शेयरधारियों पर लगाई गई लेवी।
इ – सरकार द्वारा नागरिकों पर लगाया जाने वाला पुनरावर्तक कर (यथा, संपत्ति कर, आयकर आदि)।
ई – सड़कें, फुटपाथ, भूमिगत नालियाँ आदि नागरिक सुविधाएँ प्रदान करने अथवा उनमें सुधार करने के लिए लगाए जाने वाले विशेष कर।

Assessment year

निर्धारण-वर्ष, कर-निर्धारण वर्ष
भारत सरकार का वित्त-वर्ष अर्थात् प्रत्येक वर्ष की 1 अप्रैल से आरंभ होने वाली 12 महीने की अवधि।

Assessor

निर्धारक, कर-निर्धारक
कराधान अथवा अन्य उद्देश्य से संपत्ति का मूल्य कूतने वाला व्यक्ति।

Asset

परिसंपत्ति
कोई भी मूल्यवान वस्तु अथवा अधिकार जिस पर किसी का स्वामित्व हो। यह मूर्त भी हो सकती है और अमूर्त भी जैसे, पेटेन्ट, सुनाम आदि।
asset के प्रमुख प्रकारों के लिए दे. capital asset, current asset, fixed asset, intangible asset, liquid asset, tangible asset, wasting asset.

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App