भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Vanijya Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

< previous1234Next >

Damages

नुक़सानि, हर्जाना
अ – संविदा भंग होने पर दोषी पक्ष द्वारा भारतीय संविदा अधिनियम के अधीन हर्जानाग्रस्त पक्ष को की गई क्षतिपूर्ति।
आ – बीमा के संदर्भ में यह क्षतिपूर्ति अग्नि और समुद्री जोखिमों से संरक्षित संपत्ति के क्षतिग्रस्त हो जाने पर या कर्मकार के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने पर दी जाती है।

Date of maturity

परिपक्वता-तारीख़, परिपक्वता तिथि
अ – (वाणिज्यिक विधि) वह तारीख़ जिस पर अदाकर्ता के लिए मियादी विनिमय-पत्र या हुंडी चुकाना लाज़मी है। इसकी गणना रियायती देनों (daya of grace) को जोड़कर की जाती है।
र – (बीमा) बंदोबस्ती बीमा पॉलिसी के मामले में वह तारीख़ जिस पर बीमादार बीमा कंपनी से बीमित राशि पाने का हक़दार हो जाता है।

Day book

रोज़नामचा, दैनिक पंजी
वह वही जिसमें रोज़ाना के लेनदेन दर्ज किये जाते हैं और जो प्रायः छोटे-छोटे व्यापारियों द्वारा रखी जाती है।

Day lean

दिनगत कर्ज़
एक दिन के लिए दिया जाने वाला अरक्षित क़र्ज जिसका आवश्यकतानुसार एक-एक दिन के लिये नवीयन भी किया जा सकता है। दिनगत कर्ज़ पर ब्याज की दर सामान्यतः बडी अवधि के क़र्जों से ऊँची होती है।

Dead freight

1. निरर्थक भाड़ा, विफल भाड़ा 2. अप्रयुक्त स्थान
1. निरर्थक भाड़ा, निफल भाड़ा : भाड़े पर ली गई जगह को पूरी तरह न भर पाने की स्थिति में यान के स्वामी द्वारा लदानकर्ता से वसूल किया गया ख़ाली जगह का भाड़ा।
2. अप्रयपक्त स्थान : वह जगह जिसे भाड़े पर लेने के बावजूद लदानकर्ता भर नहीं पाया है।

Dead heading

1. अनर्जक खेप 2. अतिक्रमण-पदोन्नति
1. अनर्जक खेप : (क) माल डिब्बे, ट्रक आदि को ख़ाली ले जाना। यह दो स्थितियों में होता है। एक तो तब जब वाहक को लदानकर्ता द्वारा निर्दिष्ट स्थान पर माल चढ़ाने के लिये ख़ाली यान लेकर पहुँचना होता है और दूसरे तब जब वाहक किसी का माल उतारकर अड्डे पर वापिस आता है।
(ख) परिवहन कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों को मुफ़्त ड्यूटी पर लाना और वापिस घर पहुँचाना।
2. अतिक्रमण-पदोन्नति : किसी वरिष्ठ व्यक्ति के मुक़ाबले कनिष्ठ व्यक्ति को तरजीह देकर पदोन्नत करना।

Dead time

अकारथ समय, सवेतन निष्क्रियता अवधि
ड्यूटी का वह समय जो बिजली फ़ेल हो जाने, मशीनों में टूट-फूट हो जाने अथवा कच्चे माल के समय पर न मिल पाने के कारण बेकार चला जाता है। इसमें कर्मचारी की कोई गलती नहीं होती अतः उसे उस अवधि की पूरी मज़दूरी मिलती है।

Dead weight tonnage

लदान-क्षमता
पोत द्वारा एक बार में ढोया जा सकने वाला अधिकतम भार। इसे अक्सर टनों के रूप में व्यक्त किया जाता है।

Deal

सौदा
किसी वस्तु को बेचने-ख़रीदने अथवा अंतरित करने का अनुबंध। इसे लेनदेन द्वारा संपन्न किया जाता है।

Dealer

व्यापारी, ब्यौहारी, दुकानदार
अ – वस्तुओं का क्रय-विक्रय करने वाला।
आ – प्रतिभूति अथवा शेयर बाज़ार के संदर्भ में : वह व्यक्ति जो अपने लिए ही प्रतिभूतियों अथवा शेयरों का क्रय-विक्रय करता है – दलाल की तरह दूसरों के लिए नहीं।

Death benefit

मरणोत्तर देय राशि
पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाने की सूरत में उसके द्वारा नामित अथवा समनुदेशित व्यक्ति को बीमा कंपनी से मिलने वाली बीमा-राशि।

Debenture

डिबेंचर, ऋणपत्र
पूँजी प्राप्त करने के उद्देश्य से कंपनियों द्वारा जारी किए गए विशेष कोटि के प्रतिभूति-पत्र। ये शेयरों से भिन्न होते हैं और इन्हें कंपनी की उधार-पूँजी माना जाता है। डिबेंचरों पर नियत दर से ब्याज मिलती है जो दूसरे ख़र्चों की ही तरह व्यय की एक मद है।
debenture के प्रमुख प्रकारों के लिए दे. convertible debenture , irredeemable debenture , naked debenture , redeemable debenture .

Debit

नामे, डेबिट
दोहरी प्रविष्टि पद्धति में लेखे की बायीं ओर की गई प्रविष्टि जो किसी व्यय अथवा परिसंपत्ति की वृद्धि या आय अथवा देयता के ह्रास का द्योतन करती है;
लेखे में इस प्रकार प्रविष्ट रक़म।
तुल. दे. credit

Debt

ऋण
एक व्यक्ति अथवा प्रतिष्ठान की दूसरे व्यक्ति अथवा प्रतिष्ठान के प्रति देनदारी। यह द्रव्य के अलावा वस्तु अथवा सेवा के रूप में भी हो सकती है।
debt के प्रमुख प्रकारों के लिए दे. fixed debt, floating debt, funded debt, unfunded debt

Debtor

ऋणी, क़र्जदार, देनदार, अधमर्ण
वह व्यक्ति अथवा प्रतिष्ठान जिसके ऊपर किसी का रुपया निकलता है और जिसकी अदायगी के लिए वह क़ानूनन बाध्य है।

Debt service

ऋण-सेवा
ऋण पर लगनेवाली ब्याज और परिशोधन की व्यवस्था पर ख़र्च होने वाले धन का जोड़। सामान्यतः यह शब्द लोक एवं विदेशी ऋणों के संदर्भ में प्रयुक्त होता है।

Declared valuation

घोषित मूल्य
आयात-शुल्क अथवा किसी कर के निर्धारण के लिए सामान, आय अथवा संपत्ति का उसके स्वामी द्वारा व्यक्त मूल्य।

Decontrol

विनियंत्रण, नियंत्रण हटाना
किसी वस्तु या सेवा के उत्पादन, वितरण अथवा क़ीमत पर से सरकारी नियंत्रण हटा लेना और उसे पुनः आंशिक अथवा पूर्णरूपेण बाज़ार की व्यवस्था के अधीन छोड़ देना।

Decree holder (=executive creditor = judgement creditor)

डिगरी-प्राप्त लेनदार
वह ऋणदाता जिसे अपने देनदार के विरूद्ध न्यायालय से वसूली आदेश मिल गया है।

Deduction at source

स्रोत पर कटौती
वेतन, लाभांश तथा प्रतिभूतियों पर ब्याज आदि की अदायगी करते समय अदाकर्ता द्वारा आयकर के एवज़ रक़म काटना। भारतीय आयकर अधिनियम के अनुसार निर्धारित प्रकार की अदायगियाँ करते समय अदाकर्ता के लिये आयकर की रक़म पेशगी काट लेना क़ानूनन लाज़मी है।
< previous1234Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App