भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Vanijya Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

Labour-intensive industry

श्रम-प्रधान उद्योग
वह उद्योग जिसमें पूँजी की तुलना में श्रम का प्रयोग भारी मात्रा में होता हो।
तुल. दे. capital-intensive industry

Last in, first out method

क्रय-उत्क्रम मूल्यन विधि, अंतिम आवक प्रथम जावक विधि, लिफो विधि
माल के मूल्यन की एक विधि जिसके अंतर्गत यह मान लिया जाता है कि जो माल आखिर में ख़रीदा गया है, सबसे पहले वही बिका है। अतः उसका वही मूल्य लगाया जाएगा जो अंतिम खेप का क्रय-मूल्य है।
तुल. दे. first in, first out method

Lay days

छूट के दिन
माल को उतारने अथवा लादने के लिए परेषक तथा जहाज़ के मालिक के बीच तय हुई अवधि। इस अवधि के दौरान विलंब-शुल्क आदि नहीं लिया जाता।

Ledger

खाता, खाता बही
अंतिम प्रविष्टि की बही जिसमें जर्नल आदि आरंभिक प्रविष्टि की बहियों से इंदराज उतारे जाते हैं। खाता बही में विविध प्रकार के लेन-देनों के लिए अलग-अलग लेखे खुले होते हैं जिन्हें तीन वर्गों में बाँटा जा सकता है- आय-व्यय के लेखे, व्यक्तिगत लेखे और संपत्ति लेखे।

Legal tender

वैध मुद्रा
ऐसा सिक्का अथवा नोट जिसे स्वीकार करने के लिए व्यक्ति क़ानूनन बाध्य है। भारत में नोट असीमित वैध मुद्रा हैं और एक रूपए का सिक्का तथा रेज़गारी सीमित वैध मुद्रा-बाध्यता सीमित और असीमित दोनों प्रकार की हो सकती है।

Letter of credit

साख-पत्र
बैंक (या किसी अन्य वित्तीय संस्था) द्वारा किसी संभावित उधारकर्ता के नाम जारी किया गया दस्तावेज़ जिसमें उसे एक पूर्वनिश्चित उद्देश्य के लिए एक निर्दिष्ट राशि बैंक से उधार लेने का अधिकार दिया जाता है।

Levy

उगाही, उद्ग्रहण
अ – सरकार अथवा उसकी प्राधिकृत संस्थाओं द्वारा उत्पादकों से उत्पादित वस्तु के एक नियत अंश को वसूल किया जाना। उदाहरणार्थ, भारत में चीनी और गेहूँ के संबंध में इस प्रकार की ‘उगाही’ की जाती है।
आ – कर के रूप में उगाही गई राशि।

Liability

देयता, दायित्व
अ – सामान्यतः किसी वायदा पूर्ति के लिए बँधा होने की स्थिति अर्थात् ऐसा वायदा जिसे पूरा करना लाज़मी है।
आ – (लेखाविधि) किसी व्यक्ति, प्रतिष्ठान अथवा कंपनी की अपने लेनदारों और पूर्तिकर्ताओं के प्रति देनदारी।
liability के प्रमुख प्रकारों के लिए दे. contingent liability current liability, fixed liability, floating liability, limited liability, unlimited liability.

Licence

अनुज्ञप्ति, लाइसेन्स
अ – सरकार अथवा सक्षम प्राधिकरण द्वारा किसी व्यक्ति, फ़र्म अथवा प्रतिष्ठान को कोई ऐसा व्यापार, व्यवसाय अथवा उद्योग स्थापित करने के लिए दिया गया अनुमति-पत्र जो किसी क़ानून द्वारा प्रतिबंधित है या जिसका किसी क़ानून से नियमन किया जाता है। यह अनुमति-पत्र अहस्तांतरणीय होता है।
आ – पेटेन्ट के स्वामी द्वारा अपनी वस्तु, प्रक्रिया या डिज़ाइन आदि को प्रयोग में लाने, बनाने अथवा बेचने के लिए कुछ शर्तों अथवा प्रतिबंधो के साथ किसी अन्य व्यक्ति अथवा फ़र्म को दिया गया अधिकार।

Lien

धारणाधिकार
कर्ज़ा चुकता होने अथवा अदत्त मूल्य प्राप्त होने तक कर्ज़दार की संपत्ति या ख़रीदार के माल पर क़ब्ज़ा बनाए रखने का लेनदार का अधिकार।

Life insurance

जीवन बीमा
ऐसा बीमा जिसके अंतर्गत कंपनी लोगों के जोखिम के प्रति संरक्षण प्रदान करती है। इस प्रकार की पॉलिसी लेने वाला व्यक्ति बीमा-किश्त जमा करता रहता है और उसकी मृत्यु पर या पॉलसी में निर्दिष्ट अवधि समाप्त होने पर बीमा-राशि उसके उत्तराधिकारियों अथवा उसके द्वारा नामित हिताधिकारियों या स्वयं उसको दे दी जाती है।

Limited liability

सीमित देयता
क़ानून या संविदा द्वारा प्रतिबंधित देयता। कंपनी अधिनियम के संदर्भ में कंपनी के शेयरधारियों की देयता शेयर राशि के अप्रदत्त अंश तक सीमित होती है अर्थात्, यदि किसी शेयरधारी ने रू. 100/- के शेयर पर रू. 60/- अदा कर दिए हैं तो अब उसकी देयता रू. 40/- तक सीमित है।
कंपनी की बहिर्नियमावली में इस बात की घोषण की जानी आवश्यक है कि शेयरधारियों की देयता सीमित है। इसी के साथ यह भी ज़रूरी है कि कंपनी अपने नाम के आगे ‘लिमिटेड’ शब्द का प्रयोग करे।

Liquid asset

तरल परिसंपत्ति, अनिरूद्ध परिसंपत्ति
प्रतिष्ठान के पास मौजूद नक़दी, बैंक-शेष और सरलता से नक़दी में बदली जा सकने योग्य परिसंपत्तियाँ जैसे, प्रतिभूतियाँ, प्राप्य बिल आदि। इसमें माल का मूल्य शामिल नहीं किया जाता। इस प्रकार, चालू परिसंपत्ति के मूल्य में से माल का मूल्य घटा दें तो प्रतिष्ठान की ‘तरल परिसंपत्तियों ‘ का मूल्य निकल आता है।

Liquidated damages

निर्णीत हर्जाना
किसी संविदा से संबंधित पक्षों के बीच पूर्व-निर्धारित रक़म जो क़रार पूरा न होने की स्थिति में संविदा तोड़ने वाले पक्ष को देनी होगी।

Liquidation

परिसमापन
किसी कंपनी के कामकाज को बंद करने के उद्देश्य से कंपनी अधिनियम के अंतर्गत आरंभ की गई कार्रवाई। इसके लिए परिसमापक की नियुक्ति की जाती है।

Listing

सूचीयन
मान्यताप्राप्त शेयर बाज़ार के उपनियमों के अधीन निर्धारित शर्तो के पूरा करने पर किसी कंपनी की प्रतिभूतियों को शेयर बाज़ार की भाव सूची में सम्मिलित किया जाना और वहाँ उनके सौदों की अनुमति देना।

Loading

1. लदाई, भराई 2. वर्धित राशि
1. लदाई, भराई : रेल, पोत, ट्रक आदि वाहनों पर माल चढ़ाना।
2. वर्धित राशि : निवल प्रीमियम में जोड़ी गई रक़म। बीमा पॉलिसी के अंतर्गत लिए जाने वाले प्रीमियम में दो मदें शामिल होती हैं। पहली, जोखिम-वहन की लागत और दूसरी, पॉलिसी बेचने, उसे चालू रखने और बोनस तथा लाभ आदि के लिए अपेक्षित रक़म। यह दूसरी मद अथवा उपरिलागत ‘वर्धित राशि’ है।

Loan

क़र्ज़
ऋणदाता द्वारा ऋणी को एक सम्मत ब्याज-दर पर नियत अवधि के लिए दी गई उधार-राशि। ऋणदाता और ऋणी सरकार, संस्था, व्यावसायिक प्रतिष्ठान अथवा व्यक्ति, कोई भी हो सकते हैं।

Loose leaf ledger (=perpetual ledger)

खुले पन्नों का खाता
विशेष प्रकार के जिल्द वाला ऐसा खाता जिसकी पुश्त खोलकर पन्ने अलग-अलग किए जा सकते हैं। इस खाते में जब चाहे पन्ने घटाए-बढ़ाए जा सकते हैं या उनका क्रम बदला जा सकता है। चूँकि इसमें पन्ने घटाने-बढ़ाने की गुंजाइश होती है अतः यह कभी भरता नहीं। पुराने पन्ने निकालकर नए पन्ने जोड़ देने से यह अगली लेखा-अवधि में इस्तेमाल के योग्य हो जाता है।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App