भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

< previous123456Next >

Race Course Paradox

धावन-पथ विरोधाभास
जीनो (Zeno) के सुप्रसिद्ध अकिलीज़ (Achilles) विरोधाभास की तरह का वह विरोधाभास कि एक धावन-पथ पर अ से ब तक की दौड़ पूरी करने के लिए दौड़नेवाले को उस दूरी के ½, ¾, इत्यादि अनंत खंडों को पूरा करना पड़ेगा और चूँकि अनंत खंडों की दौड़ किसी सीमित कालावधि में पूरी नहीं की जा सकती इसलिए अ से ब तक की दौड़ को पूरा करना तर्कतः असंभव है।

Radical Empiricism

उत्कट इंद्रियानुभववाद
विलियम जेम्स का सिद्धांत जिसके अनुसारः (1) दार्शनिकों को वाद-विवाद केवल उन्हीं बातों पर करना चाहिए जो इंद्रियानुभव पर आधारित हों; (2) न केवल वस्तुएँ अपितु उनके संबंध भी इंद्रियानुभवगम्य होते हैं; तथा (3) बाह्य जगत् के तत्वों को जोड़ने के लिए किन्हीं मनोबाह्य या अनुभवातीत आलंबनों की आवश्यकता नहीं है।

Radicalism

आमूल परिवर्तनवाद, उत्कटवाद
साधारण, पारंपरिक तथा रूढ़ि से बिल्कुल ही भिन्न बात का समर्थक अथवा बुनियादी या भौतिक सुधार या क्रान्तिकारी परिवर्तन का पक्षपाती मत।

Ramism

रामूवाद
फ्रांसीसी दार्शनिक पीटर रामी (Peter Ramus, 1515-1572) का सिद्धांत, जो कि स्कॉलेस्टिकवाद और अरस्तू का विरोधी और केल्विनवाद का समर्थक था तथा तर्कशास्त्र को वादविद्या का अंग मानता था।

Random Sample

यादृच्छिक नमूना, यादृच्छिक प्रतिदर्श
किसी ढेर से, कहीं से भी अर्थात् अनियमित ढंग से चुना हुआ नमूना।

Range

पंक्ति, श्रेणी
सामान्य रूप से, विभिन्न संदर्भों में क्षेत्र, विस्तार, एक निश्चित सीमा के अन्दर आने-वाली वस्तुओं के वर्ग इत्यादि का सूचक शब्द। विशेषतः, संबंध के संदर्भ में ‘converse domain’ का पर्याय।

Rapport

सामरस्य, तालमेल
मुख्यतः सम्मोहित व्यक्ति और सम्मोहनकर्त्ता का वह संबंध जो सम्मोहन की सफलता का मूल होता है। सामान्य रूप से, किन्हीं दो व्यक्तियों के मध्य सौहार्द या घनिष्ठता का संबंध।

Rapture

भावसमाधी, परमानंद
आनंदानुभूति की वह उत्कृष्ट और रहस्यमय अवस्था जिसमें आत्मा दिव्य ज्ञान की भूमि में पहुँच जाता है।

Rarefaction

विरलन
द्रव्य के घनीभूत होने के विपरीत वह अवस्था जिसमें उसके अणुओं या कणों के बीच का अवकाश बढ़ जाता है।

Ratiocination

तर्कणा
अनुमानमूलक बौद्धिक प्रक्रिया।

Ratio Cognoscendi

ज्ञानसाघक हेतु
वह वस्तु जिसके ज्ञान से किसी अन्य वस्तु का अस्तित्व जाना जाता है : ज्ञानसूचक हेतु जैसे धूम्र, जिसे देखकर अग्नि के होने का ज्ञान होता है।

Ratio Essendi

सत्तासाधक हेतु
अस्तित्व का कारण, जैसे अग्नि जो धूम्र को उत्पन्न करती है।

Rationalism

तर्कबुद्धिवाद
इंद्रियानुभववाद का विरोधी वह सिद्धांत कि ज्ञान का एकमात्र अथवा सर्वश्रेष्ठ साधन तर्कबुद्धि है और थोड़े से प्रागनुभविक या तर्कबुद्धिमूलक सिद्धांतों या संप्रत्ययों से निगमन द्वारा संपूर्ण तात्त्विक ज्ञान प्राप्त किया जा सकता है।

Rationalistic Intuitionism

बुद्धिवादी अंतःप्रज्ञावाद
रिचर्ड प्राइस तथा अन्यों का वह मत कि सदसत् तथा शुभाशुभ के नैतिक प्रत्यय अंतःप्रज्ञामूलक हैं और तर्कबुद्धि इनका ज्ञान कराने वाली शक्ति है।

Rational Utilitarianism

बौद्धिक उपयोगितावाद
सिजविक (Sidgwick) इत्यादि का नैतिक सिद्धांत जिसके अनुसार सुख परम शुभ है और तर्कबुद्धि शुभाशुभ, उचितानुचित के बोध का आधार है।

Ratio-Vitalism

बौद्धिक प्राणतत्त्ववाद
समकालीन स्पेनी दार्शनिक ओर्टेगा (Ortega) का सिद्धांत जो प्राणतत्त्व को चरमतत्त्व मानता है और उसे स्वरूपतः बौद्धिक भी मानता है।

Real

सत्, वास्तविक
काल्पनिक या संभव मात्र के विपरीत यथार्थ बाह्य जगत् में अस्तित्व रखने वाला।

Real Definition

वास्तविक परिभाषा
वह परिभाषा जो जगत् में यथार्थ अस्तित्व रखने वाली किसी वस्तु के गुणार्थ को बताती है, जैसे यह परिभाषा कि ‘मनुष्य’ एक ‘विचारशील प्राणी’ है।

Real Essence

वास्तिविक सारतत्त्व
जॉन लॉक के अनुसार, वस्तु की रचना का वह अज्ञेय अंश जो उसे अन्य वस्तुओं से भिन्न बनानेवाले गुणधर्मों का आधार होता है। भेद के लिए देखिए “nominal essence”।

Real Idealism

यथार्थ प्रत्ययवाद
वह सिद्धांत जो ज्ञानमीमांसीय प्रत्ययवाद व तत्त्वमीमांसीय वस्तुवाद में विश्वास करता है। इस सिद्धांत के अनुसार ज्ञान का विषय आत्म-सापेक्ष होता है अर्थात् किसी आत्मा से पृथक् विषय-वस्तु की कल्पना नहीं की जा सकती। किंतु परमतत्त्व सदा आत्म-निरपेक्ष होता है। ‘जार्ज बर्कवे’ का दर्शन यथार्थ-प्रत्ययवाद का उत्तम उदाहरण है।
< previous123456Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App