भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Vanijya Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

Remittance

प्रेषणा, प्रेषित धन
व्यक्ति, बैंक या खज़ाने द्वारा नक़दी या उधार-प्रपत्रों के माध्यम से एक जगह से दूसरी जगह भेजा गया द्रव्य।

Remonetization

पुनर्मुद्रीकरण
ऐसे सिक्के अथवा नोटों को फिर से वैध मुद्रा की कोटि में ले आना जो कुछ समय के लिए इस पद से च्युत हो गए थे;
सिक्के के धात्विक मूल्य के उसके टकसाल-मूल्य से नीचे आ जाने पर उन सिक्कों का पुनः प्रचलन में आ जाना जो पहले गला दिए जाते थे।

Repatriation of capital

पूँजी प्रत्यावर्तन
विदेश में लगी पूँजी को निकालकर अपने देश के कारोबार में लगाना।

Repudiation

इनकार, प्रत्याख्यान
किसी संविदागत दायित्व को पूर्णतः अथवा अंशतः पूरा करने से इनकार करना।

Reserve

आरक्षित निधि, रिज़र्व
अ – व्यवसाय अथवा प्रतिष्ठान द्वारा किसी सामान्य या विशेष उद्देश्य के लिए आवधिक तौंर पर अपने लाभ में से विनियोजित अंश।
आ – जमाराशियों की सुरक्षार्थ बैंक द्वारा रखी जाने वाली अनिविष्टि निधि।
इ – बीमा कंपनी द्वारा जारी की गई किसी पॉलिसी से उत्पन्न देयता का वर्तमान मूल्य।
reserve के प्रकारों के लिए दे. cash reserve, depreciation reserve, hidden reserve, golden reserve.

Reserve ratio

आरक्षण-अनुपात, रिज़र्व अनुपात
बैंक की देयताओं (अर्थात् ग्राहकों द्वारा जमा धन) और उसकी नक़दी अथवा समस्त तरल परिसंपत्तियों का अनुपात।

Restrictive endorsement

प्रतिबंधी बेचान, प्रतिबंधी पृष्ठांकन
किसी प्रपत्र पर किया गया ऐसा बेचान जिससे उसका आगे हस्तांतरण न हो सके। उदाहरण के लिए, चैक पर ‘केवल आदाता के बैंक खाते में’ लिख देने से उसका आगे बेचान संभव नहीं रहता।

Revalorization

मूल्य पुनःस्थापन
देश की अवमूल्यित मुद्रा को फिर से पूर्व स्तर पर स्थापित करने की प्रक्रिया।

Revaluation

पुनर्मूल्यन
अ – (लेखाकरण) किसी परिसंपत्ति के खाता-मूल्य को उसके बाज़ार-मूल्य के अनुरूप संशोधित करना।
आ – (मुद्रा) देश की मुद्रा के गिरे हुए मूल्य को फिर से ऊँचा करने की प्रक्रिया।

Revenue expenditure

राजस्व-ख़र्च, संचालन-ख़र्च
किसी परिसंपत्ति अथवा प्रतिष्ठान की उत्पादन-क्षमता बनाए रखने के लिए चालू आय में से किया गया रोज़मर्रे का ख़र्च। उदाहरण के लिए, इमारत के रख-रखाव, कच्चे माल, ईंधन, ब्याज आदि का ख़र्च।
तुल. दे. capital expenditure

Revocation

प्रतिसंहरण
अ – किसी अभिकर्ता, एटॉर्नी आदि को प्रदान की गई शक्ति या अधिकार को वापस ले लेना।
आ – संप्रेषण के पूर्ण होने से पूर्व किसी प्रस्ताव अथवा स्वीकृति को वापस ले लेना।

Revolving credit

परिक्रामी उधार
बैंक अथवा किसी अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान द्वारा खोला गया ऐसा उधार खाता जिसके अंतर्गत कर्ज़दार अथवा ग्राहक अपनी पुरानी देयता की मद में किए गए भुगतान के बराबर फिर उधार ले सकता है अर्थात् जितना वह जमा करे उतना फिर उधार ले ले।

Risk

जोखिम
अ – (व्यापार) व्यवसाय अथवा व्यापार में निहित हानि की संभावना का तत्त्व। यह क़ीमतों के उतार-चढ़ाव, सरकारी नीति के परिणाम अथवा अन्य आर्थिक परिस्थितियों के कारण होती है।
आ – (बीमा) किसी खतरे अथवा आपदा विशेष से किसी वस्तु, संपत्ति अथवा व्यक्ति को हो सकने वाली हानि की क्षतिपूर्ति के लिए अपेक्षित रक़म।

Rolling stock

चल स्टॉक
रेलवे का सारा पहिएदार सामान जो अपने पहियों के सहारे पटरी द्वारा एक जगह से दूसरी जगह जा सकता है। इसमें माल डिब्बे, यात्री डिब्बे, क्रेन, इंजन आदि आते हैं।

Royalty

रॉयल्टी
किसी विशेषाधिकार के प्रयोग के एवज़ में उसके स्वामी को दी जाने वाली धनराशि। जैसे, खान खोदने, तेल निकालने, पेटेन्ट या कॉपीराइट के प्रयोग के एवज़ में दी जाने वाली रक़म।

Runaway inflation

अतिस्फीति
दे. hyper-inflation

Run on a bank

बैंक पर टूट पड़ना
बैंक पर से विश्वास उठ जाने की स्थिति में जमाकर्ताओं द्वारा भारी तादाद में बैंक से अपना-अपना रुपया वापिस लेने के लिए माँग प्रस्तुत करना।

Sales promotion

विक्रय-संवर्धन
विज्ञापन के अलावा अन्य उपायों से उत्पाद की माँग बढ़ना। जैसे, प्रदर्शनी आयोजित करना, मुफ़्त नमूने बाँटना, क़ीमतों में कमी करना अथवा विशेष उपहार देना।

Sales tax

बिक्री कर
वस्तुओं और सेवाओं के वितरण की प्रक्रिया में एक या अधिक चरणों पर लगाया जाने वाला मूल्यानुसार कर।

Salvage

1. निस्तार 2. निस्तार-देय
1. निस्तार : आग अथवा अन्य किसी प्राकृतिक आपदा के फलस्वरूप क्षतिग्रस्त माल अथवा संपत्ति का ऐसा भाग जो नष्ट होने से बचा लिया गया है;
बीमा कंपनी द्वारा दावा-माँगों की पूरी भरपाई कर देने के बाद कब्ज़े में लिया गया क्षतिग्रस्त माल अथवा संपत्ति।
2. निस्तार-देय : नौ बीमा के संदर्भ में, जहाज़ अथवा उस पर लदे माल को आग, तूफ़ान अथवा अन्य प्राकृतिक आपदाओं से बचाने के एवज़ में दिया जाने वाला पारिश्रमिक।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App