भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Petrology (English-Hindi)(CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

< previous123Next >

labradorite

लेब्रेडोराइट :
एक प्लेजिओक्लेस फेल्डस्पार खनिज जिसमें एल्बाइट से लेकर एनार्थाइट तक का अनुपात 5:5 और 3:7 के बीच होता है । इस खनिज में सामान्यतः भूरे, नीले, हरे और अन्य रंगों का अति सुन्दर वर्ण-विलास (Play of colour) दिखाई पड़ता है और इसलिए इसे सजावटी कार्यों में बहुत अधिक काम में लाया जाता है ।

laccolith

लैकोलिथ :
गुम्बदी आकार का अंतर्वेधी आग्नेय शैल-पिंड जो परिवेशी संस्तरों के साथ लगभग अनुस्तरी होता है । इसकी छत इस प्रकार से उभरी हुई होती है कि इसके उपरिशायी संस्तरों में एक स्पष्ट अपनति-संरचना उत्पन्न हुई प्रतीत होती है । इसका आधार सामान्यतः क्षैतिज होता है परन्तु नीचे की ओर उत्तल (convex) हो सकता है ।

lacustrine

सरोबरी :
झीलों या सरावरों से संबंधित ।

lacustrine deposit

सरोबरी निक्षेप :
सरोवरी पर्यावरण में निक्षेपित पदार्थों का संचय ।

ladder vein

सोपान शिरा :
अनुप्रस्थ और समान्तरप्राय विदरों में पाया जाने वाला एक प्रकार का खनिजनिक्षेप । ये विदर डाइक के शीतलन के दौरान उसकी दीवारों के लम्बवत् शल्कन (foliation) तलों के साथ-साथ विकसित होते हैं ।

lagoon

लैगून :
समुद्र तट के निकट लवण या खारी जल की एक झील या जलाशय जो रोधिका पुलिन द्वारा समुद्र से पृथक्कृत सा रहता है परन्तु समुद्र का पानी उसमें आ-जा सकता है ।

lamellar

पटलित :
पतली परतों, शल्कों या पटलों में निर्मित; पुस्तक के पन्नों के समान परतों में निक्षेपित ।

lamellar layer

पटलमय परत :
(ग्रैप्टोलाइट्स में) ग्रैप्टोलाइट प्राबरक की बाहरी परत जो काइटिन की संकेन्द्री पटिलकाओं से बनी होती है ।

lamina

स्तरिका, पटल :
स्तरित शैल की एक पतली परत; विशेष रूप से वह परत जिसकी मोटाई एक सें.मी. या उससे कम होती है ।

laminar structure or texture

पटलीय संरचना या गठन :
वह शैल संरचना या गठन जिसमें शल्कीय शिस्टाभता तथा पटलीय लक्षण सम्मिलित रहते हैं ।

lamination

1. स्तरिकायन, पटलन 2. स्तर, पटल :
1. स्तरण होने का प्रक्रम ।
2. स्तरित संरचना; स्तरिक ।

lamprophyre

लैम्प्रोफायर :
पॉर्फिराइटी गठन का असितवर्णी डाइक शैल जिसके प्रमुख लक्ष्य क्रिस्टल असितवर्णी सिलिकेट, औजाइट, हॉर्नब्लैंड या बायोटाइट होते हैं ।

lapilli

लैपिली :
ज्वालामुखियों के विस्फोटी उद्गार के दौरान बाहर निकलने वाले 4 मि.मी. से लेकर 32 मि.मी. व्यास के छोटे-छोटे अश्मीय या काचीय खंड ।

late magmatic

पश्च मैग्मीय :
मैग्मा के संपिण्डन की अन्तिम अवस्था से संबद्ध प्रक्रम और उत्पाद से संबंधित ।

lateral eruption

पार्श्व उद्गार :
वह ज्वालामुखीय उद्गार जो सामान्यतः ज्वालमुखी शंकु के ऊपरी ढालों पर घटित होता है । इसमें संभरण प्रणाल (channel) मुख्य ज्वालामुखी फ़नेल से जुड़ा होता है ।

lava

लावा :
ज्वालामुखियों के उद्गार से भू-पृष्ठ पर बाहर निकले हुए गलित शैल के लिए एक सामान्य नाम । इसके अतिरिक्त जब यह गलित पदार्थ ठंडा होकर संपिडित हो जाता है तो उसे भी लावा कहते हैं ।

lava cone

लावा शंकु :
पूर्णरूपेण या अधिकांशतः लावा से बना ज्वालामुखी-शंकु ।

lava dome

लावा गुम्बद :
प्रमुखतः लावा से निर्मित एक गुम्बदनुमा संरचना जिसमें गुम्बद के आकार का निर्धारण लावा की श्यानता (viscosity) से होता है ।

lava flow

लावा स्तर :
गलित या जमे हुए लावा की चादर । लावा स्तर अधोजलीय या भू-पृष्ठीय हो सकता है, जो कि इस बात पर निर्भर करता है कि उसका अंतिम शीतलन जल के अंतर्गत हुआ है या शुष्क भूमि पर ।

law of superposition

अध्यारोपण नियम :
वह सामान्य नियम कि अविक्षुब्ध स्तरित शैलों के किसी भी क्रम में निचले संस्तर ऊपर वाले संस्तरों की अपेक्षा पुराने होंगे । यह नियम अधिक्षेपण और प्रतिवलन की स्थितियों में लागू नहीं होता ।
< previous123Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App